अंधा युग का जब इंटरनेशनल थिएटर फेस्टिवल में हुआ था मंचन

सन 2004. जयपुर से 12 सदस्यों वाला एक थिएटर दल जाता है यूरोप. स्लोवाकिया के ब्रातिस्लावा में इस्तोपोलीताना थिएटर फेस्टिवल में दुनियाभर के देशों...

प्रहलाद टिपाणिया का क्या कहना

एक शख्स, जो कि टीचर है.. गांव में एक तंबूरे (वाद्ययंत्र) की आवाज सुनता है.. उस आवाज के पीछे जाता है, और बस फिर...

गजब का क्रिएटिव है ये शख्स

एक दिन अचानक एक मॉल में बांसुरी बजती सुनी. पैर रुके. देखा तो एक यंगस्टर फ्ल्यूट बजा रहा था. खास बात ये कि वो...

अगर आप क्रिएटिव हैं तो…

अगर आप क्रिएटिव हैं तो, पत्रकार डॉट कॉम आपके लिए लेकर आया है एक अलग प्लेटफार्म. हम दुनियाभर के क्रिएटिव्स को एक मंच पर...

Latest Jobs

5,676FansLike
1,003FollowersFollow
645SubscribersSubscribe